निवेश ( Invest ) में ज्यादा तर लोग क्या – क्या गलतिया करते है ?

investandmistakes

Investing ( निवेश ) में ज्यादा लोग क्या गलती करते है ?

1 – अगर आप Investment करने जा रहे है तो आपको सही इंवेस्टमेंट प्लान पता होना चाहिए –

आपको पता होना चाहिए कि उस प्लान का प्रीमियम क्या है वो कितना रिटर्न देगा उसके भविष्य में रिटर्न देने का कितना चांस है आपको कैसे इन्वेस्ट करना है सारी जानकारियों को पता होना आपको जरूरी है तभी आप सफल Investment Plan कर पाएंगे

2 –  बार बार बहुत जादा Quantity में Trade करना

Invest करते समय सबसे जादा और सबसे बड़ी गलती हमलोग क्या करते है की Investment Plan को सस्ते में खरीदते है और थोड़ा महंगा हो जाने पर हम उसे बेच देते है

बार बार खरीदने और बेचने की वजह से उसमे  Value Accumulate नही हो पाती और हमे उतना Return भी नही मिल पाता हमलोग को इन्वेस्ट करने से पहले थोड़ा धैर्य और सावधानी से काम लेना होगा ताकि Investment की Value बढ़े पैसा मार्केट में लगाया है तो उसे लंबे समय तक लगाना चाहिए ताकि उसकी Value Accumulate ( बढ़ती ) जाए

मार्केट पर उसपर सभी Constrate काम करे पर जैसे ही हम लोग थोड़ा Profit देखते है हम उस Investment की बेचने की सोचने लगते है और फिर जब थोड़ा सस्ता हुआ हमने उसे खरीद लिया और फिर प्रॉफिट हुआ बेच दिया ऐसा करना long-term के लिए सही नही है और बार बार ऐसा करने से आपका  Transaction Charges भी बढ़ते जाते है जो आपको भरना पड़ता है अगर आप चाहते है आपको Investment जादा अच्छा प्रॉफिट देने वाला हो तो आप इन्वेस्ट करके भूल जाइए या Long Term सोचिए , Long Term में आपको रिटर्न मिलना ही मिलना है 

 

3 – तीसरी गलती हमलोग ये करते है की अपने पैसों को एक ही जगह जादा amount में  अपना पैसा लगा देते है

हमे अलग अलग investment plan में इन्वेस्ट करना चाहिए ( जिसे हम Diversification भी कहते है ) ताकि आपका Overall पोर्टफोलियो का जोखिम कम रहे

 आप एक जगह के बजाए थोड़ा थोड़ा दूसरे प्लान में भी इन्वेस्ट करेंगे तो आपको रिटर्न मिलने के chances भी बढ़ जाते है क्योंकि अलग अलग प्लान अलग अलग रिटर्न देते है आपको तो पता ही है Share Market में कितना रिस्क रहता है

 कभी भी आपका पैसा डूब सकता है अगर आप थोड़ा थोड़ा हर जगह इन्वेस्ट करेंगे तो मार्केट का असर आपके Investment Plan   पर इतना जादा नही पड़ेगा और इस तरह आपके investment plan में रिस्क कम रहेगा  

4 – कमीशन और फीस जादा देना

हम लोग क्या करते है अच्छे Investment Plan के लिए अच्छा खासा कमीशन या फीस पे कर देते है और वो भी सिंपल सा advice देकर अपना काम निकाल लेते है हम Investment planning के लिए किसी इन्वेस्टर को Appoint करते है और वो हमसे बहुत जादा कमीशन ले लेता है और बाद में जाकर के ये पता चलता है के उसके बताए हुए Investment में उतना जादा रिटर्न नहीं मिल रहा या कुछ गलत बता कर चला गया ये बहुत कॉमन है और अक्सर देखने को मिलता है

5 – Short Term से खुश हों जाना

Equity में चाहे आए या Mutual fund में इसका पहला कारण होता है रिटर्न को Chase करना या फिर लालच में फस जाना अगर आपका मुख्य मकसद रिटर्न को Chase करना है तो ये आपके पोर्टफोलियो Behaviour को बढ़ा देगा आप बार बार खरीदेंगे या बेचेंगे इसे आपके Investment की चर्निंग को बढ़ावा मिलेगा बदले में ये आपको उतना फल नहीं दे पाएगा ऐसा माना भी जाता है कि जो रिटर्न चेजर होते है वे भविष्य की नही सोचते उन्हें बस तुरंत का मुनाफा चाहिए होता है इसीलिए इनका Portflolio भी खराब हो जाता है इसलिए आप रिटर्न चेजर बनिए अपने Investment को पूरा समय दीजिए ताकि वो फल फूल सके उसे मिलने वाला रिटर्न जादा हो

6 – मार्केट टाइमिंग

मार्केट टाइमिंग का मतलब होता है अपने Investment को financial market से निकालना और खरीदा जाना अगर इन्वेस्टर ये अनुमान लगा पाए कि मार्केट कब ऊपर और कब नीचे जायेगा तो ऐसा Trade कर सकते है जिससे आपको प्रॉफिट जादा मिलेगा ये बहुत Important है की आप अपने फंड को इस तरह मैनेज करे उसे खरीदने या बेचने पर आपका प्रॉफिट जादा हो पर ये भी सही है मार्केट को Predict करना बहुत ही मुश्किल है आज की भागती दौड़ती जिंदगी में एक एवरेज इन्वेस्टर के लिए लगभग नामुमकिन सा हो जाता है की वो रोज मार्केट पर नजर रख सके रोज मार्केट के बारे में जानता रहे भलाई यही है आप Long Term के लिए सोचे और धैर्य बनाए रखे

7 – Inflation  को नजर अंदाज करना – 

हम लोग एक Example लेंगे Inflation को समझने के लिए मान लीजिए आज आपको शक्कर चालीस रुपए प्रति किलो मिल रहा हैं वही दो साल पहले आपने पच्चीस रुपए प्रति किलो शक्कर खरीदे थे और यही शक्कर आपको आने वाले दस साल में सत्तर से अस्सी रुपए प्रति किलो खरीदने होंगे क्योंकि समय के साथ Purchasing Power कम होती जाती है  दस रुपए के आज जो चीज आप खरीद रहे  है आने वाले समय में बीस रुपए में खरीदने होंगे ये ऐसा इस वजह से हो रहा है कि चीजों के दाम बढ़ जाते है और Purchasing Power कम होती जाती है ये जो दाम बढ़ते है इसी को हम Inflation यानी महंगाई कहते है

 इसीलिए हम Equity, Mutual fund या Real State में हमे इन्वेस्ट करना चाहिए ताकि हम आसानी से Inflation को बीट कर पाए

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *