शेयर मार्केट में इन्वेस्ट ( Invest ) करने से पहले किन बातो को जानना जरुरी है ?

sharemarket

Stock Split क्या होता है ? – 

जब एक कंपनी Stock Split Declare करती है तो कंपनी के Number of Shares बढ़ जाते है । लेकिन मार्केट Capital Same रहता है । मान लीजिए आपके पास किसी कंपनी के 10 शेयर है । और वो शेयर Split होने वाली है 1:5 में , तो टोटल शेयर जो आपके पास होंगे Split होने के बाद 5*10 = 50 

Stock Split क्यों किया जाता है ? – 

Stock Split इसलिए किया जाता है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग शेयर को खरीद सके कम Price में और इसीलिए शेयर का Liquidity भी बढ़ जाता है । और उसमे भारी मात्रा में ट्रेड होने लगता है । बहुत से लोग महंगा शेयर Afford नही कर पाते इसीलिए स्टॉक को Split किया जाता है। 

Bonus Stocks / Shares क्या होता है ? 

–  Bonus Share Existing शेयर होल्डर्स को बिना किसी Extra Cost के कंपनी Free शेयर दे देता है।  कंपनी क्यों फ्री देता है Actually कंपनी आपको फ्री शेयर नही देता है बल्कि कम्पनी जो पैसा कमाता है 

या जो उसके Earning से जो पैसा आता है , उस पैसे को या तो Dividend या Bonus  के रूप में फ्री शेयर दे देता है । Balance Sheet परजो पैसा होता है वो शेयर होल्डर्स का ही होता है । उधारण से समझते है मान लीजिए कोई कंपनी 10 : 1 

का फ्री शेयर देता है , अगर आपके पास 1 शेयर है तो टोटल शेयर आपके पास होंगे 11  (  1 Existing Share + 10 Free Or Bonus Share )

Illiquid Stocks / Shares क्या होता है ? – 

Illiquid Stocks बहुत ही जादा रिस्की Stocks होता है जिसे खरीदना और बेचना बहुत ही कठिन होता है । Illiquid स्टॉक जादातर Penny Stock होता है जिसमे इन्वेस्टर बहुत ही कम मात्रा में Invest करता है इसीलिए वो स्टॉक Illiquid हो जाता है । जब उस स्टॉक में Buy और Selling हो ही नही रही है तो उस स्टॉक में Liquidity कहा से आयेगी । 

बहुत सारे नए ( Beginner ) लोग इसी Penny ( Illiquid Stocks ) के चक्कर में पड़कर अपना लॉस करवा लेते है और दोष स्टॉक मार्केट को देते है । 

नए इन्वेस्टर हमेशा सोचते है 1 या 2 रुपए वाला शेयर खरीद कर अमीर बन जायेंगे लेकिन ऐसा नहीं होता उल्टा लॉस ही होता , मान लीजिए आपके Penny Stock के शेयर का Price बढ़ भी गया तो बेचना बहुत कठिन हो जाता है Illiquidity के वजह से । ( Lack of Buyand Selling Shares ) 

Liquid Stocks / Shares क्या होता है ?  – 

Liquid Stocks वो शेयर होता है जिसमे आसानी से Buy और Selling होता है । जैसे रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में प्रतिदिन लाखो लोग उसमे ट्रेड करते है ( Buy और Selling) । Liquid Stocks के यही Benefit होती है इसमें खरीद व बेच आसानी से हो जाता है । 

इसीलिए  आप जब भी अपना पैसा किसी शेयर में लगा रहे है तो उसमे Liquidity जरूर सुनिश्चित कर ले ।

Dividend Stocks क्या होता है ? – 

जब भी कंपनी Profit ( मुनाफा ) कमाती है वो अपने शेयर होल्डर्स को Dividend के रूप में बाट देती है । 

कंपनी कब Dividend बाटती है ? 

जादातर कंपनी Dividend को Quarterly बाटती ( Distribute ) है । 

उधारण से समझते है मान लीजिए आप 100 शेयर खरीदते है 10 रुपए के Price में जिसकी Total Value 1000 Rs है। 

अगर कंपनी 0.25 पैसे सालाना dividend देती है तो 

पूरे एक साल में आपको 30 रुपए मिलेंगे । 

Dividend Stocks के Benefits – 

1 – Passive Dividend आय ( Income ) 

2 – Investment रिटर्न 

3 –  Dividend को Reinvestment करना ताकि Longterm में Compounding Returns Accumulate हो । 

कुछ Disadvantage भी है Dividend Stocks के – 

1 – जो Stock अच्छे Dividend देते है हो सकता है उनके Stock Growth न हो जैसा आपने सोचा होगा । 

2 – जो कंपनी Dividend देती है वो Reinvestment नही होता क्योंकि Dividend Amount सीधे आपके बैंक Account

में Credit होता है । 

Penny Stocks क्या होता है ? – 

Penny Stocks वे Stocks होते है जिनके शेयर Price बहुत ही कम होते है और Market Cap भी बहुत ही Low होता है , ज्यादातर Penny Stocks Illiquid होते है जिन्हे खरीदना और बेचना मुश्किल होता है । Penny Stocks के Price 10 से नीचे होता है । 

इसीलिए Penny Stocks को Avoid करना चाहिए । इनके Fundamental भी Weak होते है । ज्यादातर Penny Stocks में Pump और Dump होता रहता है । इसीलिए जो नए नए मार्केट में आते है उनका लॉस हो जाता है । 

कुछ Penny Stocks –

Vodafone Idea 

Suzlon Energy

JP 

Small Cap Stocks क्या होता है ? –

Small Cap Stocks वे कंपनी होते है जिनका Market Capitalisation 5000 करोड़ से कम होता है । Small Cap Stocks में Risk जादा होता है और भविष्य में सफल होने का Probability Low होता है । 


Small Cap Stocks में Invest करने का कारण –

बहुत सारे इन्वेस्टर Small Cap में अपना पैसा इन्वेस्ट करना पसंद करते है । क्योंकि Small Cap में Growth Potential जादा होता है । क्वालिटी Stocks Low Price पर मिल जाता है । 

इसीलिए अच्छे से स्टॉक को Research करे  Fundamental Check कीजिए ,  कम्पनी का बैलेंस शीट को देखिए तभी कोई निर्णय लीजिए । 


Mid Cap Stocks क्या होता है ? – 

Mid Cap Stocks 5000 से लेकर 20000 करोड़ तक होता है । Midcap Stock कम Volatile होता है  Small Cap से।

Mid Cap Stocks में कम Risk होता है Small Cap से।  इसमें Growth Potential जादा होता है ।

Large Cap Stocks क्या होता है ?  – 

Large Cap Stocks वे स्टॉक होते है जिनके Market Cap 20000 करोड़ से जादा होता है। Large Cap Fundamentally Strong Company होते है और इनका Buisness Model बहुत ही अच्छा होता है ।

इसमें रिस्क न के बराबर होता है । 

Conclusion – 

1 – Stock Split क्या होता है ? 

2 – Stock Split क्यों किया जाता है ? 

3 –  Bonus Stocks / Shares क्या होता है ? 

4 – Illiquid Stocks / Shares क्या होता है ? 

5 – Liquid Stocks / Shares क्या होता है ?  

6 – Dividend Stocks क्या होता है ?

7 – Penny Stocks क्या होता है ? 

8 – Small Cap Stocks क्या होता है ? 

9 – Mid Cap Stocks क्या होता है ? 

10 – Large Cap Stocks क्या होता है ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *